वाराणसी में प्रधानमंत्री मोदी: रिंगरोड, पार्किंग, बायोगैस प्लांट का किया लोकार्पण, 5189 करोड़ की 28 परियोजनाओं की दी सौगात

संक्षेप:

  • बुनियादी सुविधाओं पर्यटन, कृषि से जुड़ी तकरीबन 28 परियोजनाओं की सौगात।
  • वाराणसी से गोरखपुर फोरलेन हाईवे पैकेज दो का लोकार्पण।
  • बेनियाबाग, टाउनहाल, सर्किट हाउस में मिलेगी पार्किंग की सुविधा।

वाराणसी- शहर के बुनियादी विकास के लिए बनकर तैयार कई परियोजनाएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकार्पण के साथ ही सोमवार को आमजन के लिए समर्पित हो जगं। रिंगरोड के साथ ही तीन पार्किंग स्थलों की सौगात मिली। इससे न सिर्फ वाहनों को खड़ा करने की व्यवस्थित जगह मिलेगी बल्कि लगने वाले जाम से भी निजात मिलेगी। इसके अलावा बायोगैस प्लांट, रामनगर में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट, वरुणा नदी पर कोनिया के पास पुल और कालिकाधाम पुल भी आवागमन के लिए खोल दिया गया।

काशी में बुनियादी सुविधाओं पर्यटन, कृषि से जुड़ी तकरीबन 28 परियोजनाओं की सौगात सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों लोकार्पित होने के बाद आमजन के लिए समर्पित हो गईं। परियोजना स्थल पर दिनभर साफ-सफाई का काम चलता रहा और उसे फूल मालाओं और रंग बिरंगे गुब्बारों से सजाया गया। चांदपुर औद्योगिक क्षेत्र में पुराने जीटी रोड के पास भव्य गेट बनाया गया।

वहीं कचहरी के पास वरुणा नदी के किनारे बने ढलान पर गेट बनाकर फूल माला से सजाया गया। इसी तरह कोईराजपुर हरहुआ के पास रिंग रोड पर भी सजाया गया। इसी तरह शहंशाहपुर, कोनिया पुल, कालिकाधाम, गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट तक सजाया गया। लहुराबीर से लेकर मैदागिन गौदालिया तक तिरंगी स्पाइरल लाइटें लगाई गई। 

ये भी पढ़े : बस्ती: विदेश से आने वाले नागरिकों की दो बार हो रही आरटी पीसीआर जांच


रिंग रोड तैयार, फर्राटा भरेंगे वाहन
कोईराजपुर (हरहुआ) से राजातालाब तक दूसरे फेज में 17 किमी तक रिंग रोड का काम पूरा हो गया। प्रयागराज हाईवे के राजातालाब से हरहुआ, चिरईगांव से होते हुए गंगापार चंदौली के  लौंदा झांसी तक तकरीबन 58 किमी लंबी रिंग रोड का निर्माण होना है। इसमें पहले फेज में संदहा (चिरईगांव) से कोईराजपुर (हरहुआ) तक तकरीबन 16 किमी लंबे मार्ग का काम पूरा हो चुका है और इस पर वाहन फर्राटे भर रहे हैं।

बाकी तीसरे चरण में संदहा (चिरईगांव) से चंदौली के  लौंदा झांसी तक रिंग रोड का काम तेजी से चल रहा है। यह रिंग रोड राजातालाब में कोलकाता से दिल्ली तक जाने वाले नेशनल हाईवे, हरहुआ में वाराणसी-लखनऊ नेशनल हाईवे, लमही के आगे पांडेयपुर मार्ग पर वाराणसी-आजमगढ़ नेशनल हाईवे और चिरईगांव में वाराणसी-गोरखपुर नेशनल हाईवे को जोड़ेगा। 

वाराणसी से गोरखपुर फोरलेन हाईवे पैकेज दो का लोकार्पण
वाराणसी से गोरखपुर तक बन रहे फोरलेन हाईवे का पैकेज दो बनने के बाद सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसकी भी सौगात दी। इसके बन जाने से वाराणसी से गोरखपुर आने-जाने वालों को सहूलियत मिलेगी। यह हाईवे रिंगरोड से जुड़ा है। इससे वाराणसी सहित आसपास के जिले के लोगों को भी आवागमन की सुविधा मिलेगी। इस पर करीब 72.15 किमी लंबे इस मार्ग पर जमीन अधिग्रहण से लेकर सड़क और पुल निर्माण पर 3509 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं।

बायोगैस प्लांट तैयार, मिलेगी सीएनजी, जैविक खाद
शहंशाहपुर में बायो सीएनजी गैस प्लांट बनकर तैयार हो गया है। वहां सीएनजी के साथ लिक्विड और ठोस खाद का उत्पादन भी शुरू हो जाएगा। वाहनों के लिए सीएनजी के साथ ही किसानों को जैविक खाद भी मिलने लगेगी। इस प्लांट से प्रतिदिन 2500 किलोग्राम सीएनजी तैयार होगी। साथ ही प्लांट में गोबर से सीएनजी बनाने की प्रक्रिया के दौरान ही जैविक लिक्विड और मैन्युअल खाद भी लगभग 30000 किलोग्राम प्रति दिन तैयार होगी। यहां पर जैव खाद प्रयोगशाला के साथ ही साथ जैविक खाद प्रशिक्षण की सुविधा भी उपलब्ध होगी।  

बेनियाबाग, टाउनहाल, सर्किट हाउस में मिलेगी पार्किंग की सुविधा
शहर के बेनियाबाग, टाउनहॉल मैदान और सर्किट हाउस परिसर में बनने वाली भूमिगत पार्किंग की सौगात सोमवार को मिल गई। इससे शहर में लगने वाले जाम से निजात मिलेगी और लोगों को आवागमन में सुविधा होगी। तीनों जगह कुल मिलाकर 712 चारपहिया और 438 दोपहिया वाहन खड़ा हो सकेंगे।

बेनियाबाग में 470 चारपहिया और 130 दोपहिया वाहनों के खड़ा करने की सुविधा होगी। वहीं टाउनहॉल में 230 दोपहिया और 130 चारपहिया के अलावा सर्किट हाउस में 112 चारपहिया और 178 दोपहिया वाहन खड़ा हो सकेंगे। इस महीने इन तीनों भूमिगत पार्किंग की सौगात मिलने से शहर में लगने वाले जाम में कमी आएगी। 

रामनगर में लंबे समय से सीवर की समस्या से जूझ रहे नागरिकों को बड़ी राहत मिलेगी। वहां 10 एमएलडी की क्षमता का सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट बनकर तैयार हो गया। इसके साथ ही नगरपालिका रामनगर से रोजाना निकलने वाले सीवर का शोधन हो सकेगा। यहां उफनाते सीवर से लोगों को निजात मिल जाएगी।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

अन्य वाराणसीकी अन्य ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें और अन्य राज्यों या अपने शहरों की सभी ख़बरें हिन्दी में पढ़ने के लिए NYOOOZ Hindi को सब्सक्राइब करें।

Related Articles