यह हैं वाराणसी के निवासियों के लिए बिजनेस लोन के फायदें

संक्षेप:

  • छोटे और मध्यम उद्योग को आगे बढ़ाने का मौका
  • Bajaj Finserv के बिजनेस लोन के ज़रिए कीजिए विस्तार
  • टैक्स में छूट और कम ब्याजदर जैसे कई फायदे उठाइए

अगर आप व्यापार करते हैं लेकिन अपने व्यापार को पैसों की कमी की वजह से आगे नहीं बढ़ा पा रहे हैं तो अब आप चिंता मत करिए। ऐसे में बिजनेस लोन एकमात्र ऐसा साधन है जो आपके व्यापार को आगे बढ़ाने में मदद करेगा। व्यापार कोई भी हो उसमें उतार-चढ़ाव आते रहते हैं और इस स्थिती को आप बिजनेस लोन के ज़रिए संभाल सकते हैं। बात करें वाराणसी की, तो यह एक ऐसा शहर है जहां छोटे और मीडियम उद्योग हैं। उन उद्योगों का विस्तार करने के लिए बिजनेस लोन आपकी सहायता करता है।

वाराणसी में उद्योगों के विकास के लिए बिजनेस लोन से आपकों काफी फायदे मिलते हैं।

ये भी पढ़े : बाबा रामदेव ने लॉन्च किये पतंजलि के दूध, दही और पनीर, मार्केट से 2 रुपये सस्ता होगा पतंजलि का दूध


लचीलापन (Flexibility): व्यापार को आगे बढ़ाने के लिए अगर आप बिजनेस लोन लेते हैं तो आपके पास कई तरह के बिजनेस लोन के ऑफर हैं। आज की तारीख में कई सरकारी योजनाएं हैं जैसे सीजीटीएमएसई जो विशेष रूप से छोटे और मध्यम वर्ग के व्यवसाय और बैंकों के लिए हैं। बजाज फिनसर्व (Bajaj Finserv) जैसी एनबीएफसी के पास भी इस उद्देश्य के लिए कई ऋण विकल्प हैं। इसकी खास बात यह है कि इन लोन के लिए आपको किसी प्रकार की कोई संपार्श्विक या गारंटी की आवश्यकता नहीं है और कोई छोटा व्यवसाय भी इसके लिए आवेदन कर सकता है जो जल्द ही एप्रूव्ड भी हो जाएगा।

आसान पुनर्भुगतान (Easy Repayment): छोटे और मध्यम वर्ग के उद्यमियों को एक चिंता अकसर सताती रहती है कि बिजनस लोन लेने के बाद वह किस तरह इसको चुकाएंगे और हर महीने लगातार किश्त कैसे देंगे? ऐसे में एनबीएफसी ने बैंकों और व्यवसायियों को राहत देने के लिए एक नई सुविधा दी है जिसमे आप अपनी वित्तीय क्षमता के आधार पर लोन के भुगतान को अपने हिसाब से चुका सकते हैं। वित्तीय संस्थाओं ने पाया है कि हर व्यवसाय एक जैसा नहीं होता और छोटे उद्योग (SMEs) और मध्यम उद्योगों (MSMEs) को प्रोफिट कमाने में थोड़ा समय लगता है। बजाज फिनसर्व (Bajaj Finserv) जैसे एनबीएफसी ने सुविधाजनक ईएमआई भुगतान जैसे फ्लैक्सी लोन और Interest only Flexi loans की सुविधा दी है जिससे लोन लेना अब कोई बड़ी चुनौती नहीं है।

ब्याजदर घटी (Reduced Interests): लगभग सभी बैंक और एनबीएफसी ने व्यापार को फायदा पहुंचाने के लिहाज से अब बिजनेस लोन की ब्याज दर को कम कर दिया है जिसका फायदा छोटे और मध्यम वर्ग के उद्योगों को सबसे ज्यादा मिलेगा। लेनदारों ने समझा है कि आज ब्याजदर घटाने से व्यापार में वृद्धि होगी जिससे आने वाले समय में बढ़िया रिटर्न मिलेगी और ऋणियों की पुनर्भुगतान की क्षमता बढ़ेगी। नामी कम्पनी Bajaj Finserv जैसी एनबीएफसी बिजनेस लोन देती है जिसकी शुरुआत 18% से होती है। इसमें कोई दो राय नहीं है कि उधारकर्ता के क्रेडिट स्कोर, संस्था का बिजनेस प्लान, ऋण का कार्यकाल और वित्तीय संस्था की सामान्य नीतियां जैसे कई अन्य कारक ब्याज दरों का निर्धारण करने में एक बड़ा योगदान देते हैं। लेकिन बड़े पैमाने पर वह काफी हद तक कम हो गए हैं।

टैक्स सेविंग (Tax Savings): आईटी अधिनियम के विशिष्ट वर्गों में छोटे व्यवसाय को काफी फायदे दिए गए हैं। एक छोटा व्यवसाय अगर लोन लेता है तो उसे कर में छूट मिलेगी जो कि एक छोटे व्यापारी के लिए अच्छी खबर है। इन नियमों के मुताबिक, जो प्रोफिट का प्रतिशत टैक्स में जाता था उसे आप अब बिजनेस लोन चुकाने में लगा सकते हैं। जिससे पुनर्भुगतान की चिंता किए बिना आप अपने बिजनेस को आगे बढ़ा सकते हैं और परिवार भी अपनी जीवन शैली में सुधार कर सकता है।

व्यापार का विस्तार (Business Expansion): क्विक बिजनेस लोन आपके व्यापार को आगे बढ़ाने और व्यापार को विस्तार करने का अवसर प्रदान करता है। इसके अंतर्गत आप अपने उद्योग के लिए नए उपकरण ले सकते हैं, एक अच्छी जगह पर नया दफ्तर स्थापित कर सकते हैं, मार्किट में इन्वेस्ट और उद्योग में इस्तेमाल होने वाले वाहन भी खरीद सकते हैं। अगर आप भी अपने व्यापार को आगे बढ़ाना चाहते हैं और बिजनेस लोन के फायदे लेना चाहते हैं तो जल्द ही आप भी व्यापार ऋण का एक सुरक्षित विकल्प अपना सकते हैं।

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

अन्य वाराणसी ताजा समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें
हिंदी में पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles