UP Election 2022: कड़े मुकाबले के बीच अलीगढ़ में 61.37 फीसदी मतदान

संक्षेप:

  • प्रथम चरण में बृहस्पतिवार को जिले की सात सीटों के लिए मतदान।
  • 60 प्रत्याशियों के लिए कड़े मुकाबले और तगड़ी सुरक्षा के बीच मतदान शांतिपूर्वक हो गया।
  • जिले में देर शाम तक कुल 61.37 फीसदी मतदान हुआ।

अलीगढ़- यूपी विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में बृहस्पतिवार को जिले की सात सीटों पर 60 प्रत्याशियों के लिए कड़े मुकाबले और तगड़ी सुरक्षा के बीच मतदान शांतिपूर्वक ढंग से निपट गया। जिले में देर शाम तक कुल 61.37 फीसदी मतदान हुआ है, जिसमें जिले की बरौली व कोल सीट के मतदाता मतदान में अव्वल रहे हैं, जबकि अतरौली सीट पर सबसे कम मतदान हुआ है। हालांकि, तमाम आशंकाओं के बीच दिन भर में कहीं से भी किसी बड़े फसाद की खबर नहीं मिली। हां, आधा दर्जन से अधिक गांवों में मतदान बहिष्कार को लेकर टीमें दौड़ लगाती रहीं। वहीं छोटे-मोटे विवाद टीमों ने दौड़कर निपटवाए। साथ में ईवीएम खराब होने, वोटर लिस्ट से नाम गायब होने जैसी वजहों से कुछ जगह हंगामी हालात बने, जिन्हें टीमों ने तत्काल निपटवाया।

जिले की सात सीटों क्रमश: खैर, बरौली, अतरौली, छर्रा, कोल, अलीगढ़ शहर व इगलास के लिए सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ। हालांकि कोहरे के कारण शुरुआत में अधिकांश इलाकों में मतदान की रफ्तार धीमी थी, मगर दस बजे धूप खिलने के मतदान ने गति पकड़ ली। इस दौरान इगलास के गांव हीरपुर हुसैनपुर, जल्हू, नबलपुर, खैर के गांव कुराना, बरौली के गांव कल्यानपुर में विकास कार्यों को लेकर सुबह से ही मतदान बहिष्कार शुरू हो गया। इस दौरान घंटों मशक्कत व प्रयास के बाद कल्यानपुर को छोड़कर ग्रामीणों को मनाकर मतदान शुरू कराया गया। मगर कल्यानपुर में दोपहर तीन बजे के बाद किसी तरह मतदान शुरू हुआ और दिन भर में मात्र 57 मत पड़े हैं।

इस दौरान दिन भर जोनल, सेक्टर व स्टैटिक मजिस्ट्रेट टीमों के अलावा कमिशभनर गौरव दयाल, डीआईजी दीपक कुमार, डीएम सेल्वा कुमारी जे, एसएसपी कलानिधि नैथानी सहित पूरा अमला भ्रमणशील रहा और शांति पूर्वक मतदान के बाद राहत महसूस करते हुए पूरे अमले को बधाई दी। देर रात समाचार लिखे जाने तक धनीपुर मंडी में ईवीएम जमा कराए जाने का काम जारी था।

ये भी पढ़े : सारे विश्व में शुद्धता के संस्कार, सकारात्मक सोच और धर्म के रास्ते पर चलने की आवश्यकता: भैय्याजी जोशी


If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Related Articles