आगरा में जिंदा जलाई गई छात्रा की सफदरजंग अस्पताल में मौत

संक्षेप:

  • आगरा में जिंदा जलाई गई छात्रा की मौत
  • सफदरजंग अस्पताल में थी भर्ती
  • चचेरे भाई ने भी खाया जहर

आगरा: आगरा के मलपुरा थाना क्षेत्र में अज्ञात बदमाशों ने दसवीं की छात्रा को जिंदा जला दिया था, जिसके बाद गुरुवार को उसकी मौत हो गई. दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उसने देर रात अंतिम सांस ली. घटना के बाद से ग्रामीण गमजदा हैं. युवती के ताऊ सौदान सिंह ने उसकी मौत की पुष्टि की है. 

मलपुरा थाना क्षेत्र की रहने वाली छात्रा को गांव के बाहर आगरा जगनेर रोड पर दो हेलमेट पहने अज्ञात बाइक सवारों ने पेट्रोल डाल कर जिंदा जला दिया था. उसी समय वहां से गुजर रहे बस चालक ने अपनी गाड़ी में रखे फायर सिलेंडर से आग बुझाई थी.

छात्रा को गंभीर हालत में आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज लाया गया था और वहां से उसे वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था. छात्रा की सांस की नली सिकुड़ गयी थी और लीवर में भी इंफेक्शन हो गया था.

ये भी पढ़े : प्रयागराज कुंभ मेला- 2019: जानिए कितने प्रकार के होते हैं अखाड़े और क्या होता इनका काम


कुशल डाक्टरों की टीम उसका इलाज करने में जुटी हुई थी पर दवा और दुआ दोनों ही छात्रा को नहीं बचा पाए. घटना की जानकारी के बाद उसके परिजन दिल्ली के लिए रवाना हो गए. छात्रा की मौत के बाद परिजन पुलिस की कार्यशैली से आश्वस्त हैं पर अब पुलिस के लिए यह गुत्थी सुलझाना टेढ़ी खीर हो सकता है क्योंकि अभी पुलिस को छात्रा को कोई बयान नहीं मिला है. आरोपी युवकों ने हेलमेट लगाया हुआ था, जिस कारण उनकी पहचान नहीं हो पाई है.

वहीं, उसकी मौत की सूचना मिलते ही लड़की के चचेरे भाई ने जहर खा लिया, जिससे उसकी भी मौत हो गई है. दसवीं की छात्रा की हत्या मामले में अब नया मोड़ आ गया है. पुलिस 2 दिन से छात्रा के भाई से लगातार पूछताछ कर रही थी. मंगलवार को छात्रा की मौत की खबर आती ही उसके चचेरे भाई ने विषाक्त पदार्थ खा लिया, उसे गंभीर हालत में उसे उपचार के लिए आगरा के एक निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. इलाज के दौरान उसने ने भी दम तोड़ दिया. 

बताया जा रहा है कि छात्रा के भाई पर पुलिस का शक सबसे ज्यादा है. छात्रा को पेट्रोल डालकर जलाने की घटना के दिन से ही वह पुलिस के नजरों में चढ़ा हुआ था. पुलिस लड़के की मौत के बाद हरकत में आ गई  है. पुलिस टीम उसके घर पर पहुंच गई. घर के छत पर बने कमरों में तलाशी ली गई, जहां से पुलिस सबूत जुटाने का प्रयास कर रही है. मौके पर एफएसएल टीम को बुला लिया गया.

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

अन्य आगरा न्यूज़ हिंदी में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में
पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles