गाजियाबादः कर्म किए बिना फल की इच्छा करना व्यर्थ- ज्योतिष मदन सनवान

  • गाजियाबादः कर्म किए बिना फल की इच्छा करना व्यर्थ- ज्योतिष मदन सनवान

    संक्षेप:

    • ज्योतिष मदन सनवान जी ने NYOOOZ से की बातचीत
    • जिंदगी से जुड़े कुछ पहलुओं को NYOOOZ के साथ किया साझा
    • स्वर्गीय श्री हरीश चंद्र जी से की शिक्षा प्राप्त

    गाजियाबाद के ज्योतिष मदन सनवान जी ने NYOOOZ से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने पूछे गए सवालों का  जवाब देते हुए अपनी जिंदगी से जुड़े विशेष पहलुओं को भी साझा किया। ज्योतिष मदन सनवान जी से पूछे गए कुछ प्रश्न-

    सवाल- मदन सनवान जी आप अपने बारे में बताईये?

    जवाब- मैं कर्म से एक ज्योतिषी हूं। मैं बसिकॉली उत्तराखंड का रहने वाला हूं, लेकिन पिछले 25 सालों से मैं ग़ाज़ियाबाद जिले के साहिबाबाद में ही रह रहा हूं। मै पिछले 25 सालों से ज्योतिष विद्या का ज्ञान अर्जित कर रहा हूं, मुझे पूरे 25 सालहो गए इस ज्योतिष विद्या के प्रोफेशन में।

    सवाल- आपने अपनी ज्योतिष विद्या कहां से अर्जित की?

    जवाब- मैंने अपनी ज्योतिष विद्या अपने गुरु स्वर्गीय श्री हरीश चंद्र जी से प्राप्त की है। वो भी उत्तराखंड के ही रहने वाले थे, इसलिए मैंने उन्हें अपना गुरु बना लिया था और आज मैं जो भी हूं.. उनके बदौलत हूं। उन्होंने हर कदम पर मेरा साथ दिया।

    सवाल- ज्योतिष के माध्यम से लोगों को बताई गई बातें कितनी प्रतिशत सच होती हैं?  क्या लोगो को इन पर विश्वास करना चाहिए?

    जवाब- देखिए ज्योतिष विद्या द्वारा बताई गई बातें 100 प्रतिशत सच होती हैं, लेकिन तब सच होती है यदि ज्योतिष को लेकर आपके मन में विश्वास है तब। अगर आप ज्योतिष विद्या पर विश्वास नही करते तो यह आपके लिए 0 प्रतिशत साबित होगी। ज्योतिष द्वारा बताई गई बातें तभी सच होती हैं यदि आपके मन में विश्वास हो साथ ही मनुष्य को फलस्वरूप कार्य भी होगा होगा। केवल ज्योतिष के सहारे ज़िन्दगी में कुछ भी प्राप्त नही होगा। इसलिए इंसान को कर्म करना चाहिए, बिना फल की इच्छा किये। अपने काम को ईमानदारी से पूर्ण करना चाहिए।

    सवाल- NYOOOZ के माध्यम से आप लोगों से क्या कहना चाहेंगे।

    जवाब- NYOOOZ के माध्यम से मैंलोगो से यही कहना चाहूंगा कि इधर-उधर बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर बैठे ढोंगी ज्योतिशों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए और जितना हो सके ऐसे ढोंगीयों से दूर ही रहना चाहिए और अच्छे कर्म करने से कभी पीछे नही हटना चाहिए क्योंकि आपके अंतिम समय में आपके अच्छे कर्म ही आपके काम आएंगे बाकी सब मोह- माया है। 

    न्यूज़ सोर्स: NYOOOZ HINDI