यूपी के मदरसों में लागू होगा कॉमन ड्रेस कोड, योगी सरकार कर रही तैयारी

संक्षेप:

  • मदरसों में अभी कोई ड्रेस कोड लागू नहीं है
  • सिलेबस में भी बदलाव कर चुकी है सरकार
  • मदरसों में भी एनसीईआरटी की किताबें

लखनऊः उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार बनने के बाद से मदरसों को लेकर काफी चर्चा होती रहती है। ताजा मामले में यूपी सरकार में अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मोहसिन रजा ने मदरसों में कॉमन ड्रेस कोड की वकालत की है। गौरतलब है कि अभी तक मदरसों में कोई ड्रेस कोड लागू नहीं है। मोहसिन रजा ने कहा, `मेरी इच्छा है कि कॉमन ड्रेस कोड होना चाहिए। अभी कोई प्रस्ताव नहीं है कि यह ड्रेस क्या हो। हालांकि, अभी बच्चे मदरसों में बच्चे कुर्ता-पायजामा ही पहनते हैं, जिसे मदरसों की ड्रेस मान लिया जाता है।`

इससे पहले मदरसों में होने वाली पढ़ाई के सिलेबस में भी यूपी सरकार बदलाव कर चुकी है। अब बाकी स्कूलों की तरह मदरसों में भी एनसीईआरटी की किताबें लागू कर दी गई हैं। इसके अलावा मदरसों पर जीपीएस सर्विस के जरिए नजर रखने की बात पर भी चर्चा शुरू हो चुकी है। सरकार की तरफ से कहा जा रहा है कि मदरसों में नकली स्टूडेंट्स और कर्मचारियों पर नजर रखने के लिए ऐसा किया जा रहा है। राज्य सरकार ने मदरसों से क्लास रूम के मैप, इमारत की तस्वीरें और टीचर्स के बैंक अकाउंट भी मांगे हैं। कर्मचारियों के आधार कार्ड की डीटेल सरकार के पोर्टल पर अपलोड करने के लिए भी कहा गया है।

ये भी पढ़े : बीएसपी ने मायावती को प्रधानमंत्री उम्मीदवार के तौर पर किया प्रोजेक्ट, पार्टी ने की कार्रवाई


Read more Lucknow Hindi News here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles