NYOOOZ Special: बरेली के फर्जी बाबा ने अखाड़ा परिषद को ही बताया 'फर्जी'

  • संक्षेप:

    • बरेली के दो बाबा भी निकले फर्जी
    • अखाड़ा परिषद की सूची में है नाम
    • अखाड़ा परिषद को ही बताया `फर्जी`

    बरेलीः अखाड़ा परिषद द्वारा जारी की गई सूची में 14 बाबाओं को फर्जी घोषित किया गया है. जिसमें बरेली के दो बाबाओं को भी इस सूची में शामिल किया गया है. बरेली के पंचमुखी मंदिर के बाबा बृहस्पति गिरी और मलखान गिरी को फ़र्ज़ी बताया गया है.

    वहीं खुद को फर्जी बताए जाने से नाराज दोनों बाबाओं ने अब अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद को ही फ़र्ज़ी करार दिया है. बाबा बृहस्पति गिरी ने कहा है कि अखाड़ा परिषद की नज़र मंदिर के करोड़ों-अरबों की संपत्ति पर है, यही वजह है कि हमें फ़र्ज़ी बताया गया है. उन्होंने अपनी जान को खतरा भी बताया है. उनका कहना है कि जमीन को लेकर कोर्ट में केस चल रहा है और अब तक इसी जमीन के लालच में कई बाबाओं की हत्या तक हो चुकी है.

    दरअसल अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की बैठक रविवार को प्रयाग नगरी इलाहाबाद के बाघम्बरी गद्दी मठ में आयोजित की गई. इस बैठक में अखाड़ा परिषद ने 14 फर्जी बाबाओं के नाम की लिस्‍ट जारी की. परिषद ने संत आसाराम, राधे मां, सच्चिदानंद गिरी, गुरमीत राम रहीम, निर्मल बाबा, इच्छाधारी भीमानंद, असीमानंद और नारायण साईं, रामपाल, आचार्य कुशमुनि, वृहस्पति गिरी, मलखान सिंह के नामों को फर्जी बाबाओं की लिस्ट में शामिल किया है.

    बता दें, कि इस बैठक में शामिल होने के लिए सभी 13 अखाड़ों के प्रतिनिधियों को बुलाया गया था. बैठक के बाद सर्व सम्मति से अखाड़ा परिषद ने 14 फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी की. बताया जा रहा है कि अखाड़ा परिषद की बैठक में फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी करने के बाद इसे सरकार को सौंपा जाएगा. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि उन बाबाओं के खिलाफ एक्शन लिया जा सके, जो गलत तरीके से आस्था से खिलवाड़ कर रहे हैं.

    न्यूज़ सोर्स: NYOOOZ HINDI