इलाहाबाद में वकील की हत्या के विरोध में कानपुर में अनशन पर बैठे अधिवक्ता

संक्षेप:

  • साथी की हत्या से उबले वकील
  • कानपुर में अनशन पर बैठे अधिवक्ता
  • प्रशासन की कार्यशैली पर उठाये सवाल

कानपुरः यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के शहर इलाहाबाद में डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के वकील राजेश श्रीवास्तव की हत्या के विरोध में सोमवार को कानपुर कचहरी में शताब्दी द्वार पर शहर के सभी अधिवक्ताओं ने एक दिन का सामूहिक उपवास रखा है. वकीलों का कहना है कि अधिवक्ता राजेन्द्र श्रीवास्तव की हत्या के तीन दिन बीत जाने के बाद भी आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है जो कि प्रशासन की कार्यशैली पर कहीं न कहीं सवाल उठा रहे हैं. उन्होंने बताया कि जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाएगी तब तक उनका प्रदर्शन लगातार जारी रहेगा लेकिन जनता को कोई कष्ट न हो इसके लिए न्यायिक कार्य प्रणाली चलती रहेगी.

गौरतलब है कि इलाहाबाद में दस मई को डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के वकील राजेश श्रीवास्तव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. आरोप है कि वकील राजेश श्रीवास्तव अपने पड़ोस में अवैध निर्माण का विरोध कर रहे थे, इसी वजह से उनकी हत्या की गई थी. पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि सीसीटीवी में तस्वीरें कैद होने के बावजूद वकील को गोली मारने वाले दोनों शूटरों की अभी पहचान तक नहीं की जा सकी है.

हत्या के बाद हुई हिंसा और वकीलों की नाराज़गी के मद्देनजर इलाहाबाद के एसएसपी आकाश कुलहरि का तबादला कर दिया गया था. डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के वकील मोहम्मद हारिस के मुताबिक़ शूटरों की गिरफ्तारी नहीं होने तक उनकी हड़ताल जारी रहेगी. हाईकोर्ट के असिस्टेंट सीएससी अनिल कुमार सिंह का कहना है कि इस घटना को लेकर वकीलों में खासी नाराज़गी है.

ये भी पढ़े : IIT कानपुर में 76 पदों पर निकली वैकेंसी

Read more Kanpur News In Hindi here. देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में पढ़ने के लिए
NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें |

Related Articles