300 यूनिट फ्री बिजली देने वालों ने प्रदेश को रखा अंधेरे में- सीएम योगी

संक्षेप:

  • साहिबाबाद में प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम में बोले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।
  • सपा सरकार में मंत्री पहले बनवाते थे अपना बंगला।
  • पहले कोरोना की जगह लगता था कर्फ्यू।

गाजियाबाद- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार में मुख्यमंत्री और मंत्री पहले बनवाते अपना बंगला बनवाते थे। भाजपा सरकार ने 43 लाख गरीबों को आवास उपलब्ध कराया। स्वच्छ भारत मिशन के तहत 2.61 करोड़ गरीबों के लिए शौचालय बनवाए। पहले गरीब अंधेरे में रहने के आदी थे, लेकिन 1.21 लाख मजदूरों के घरों में बिजली पहुंचाई। 1.56 लाख गरीबों को निशुल्क रसोई गैस के कनेक्शन दिए। वृद्धजनों, विधवाओं, दिव्यांगों एक हजार रुपये प्रति माह पेंशन की सुविधा उपलब्ध कराई। किसानों को किसान सम्मान निधि और गरीबों को निशुल्क राशन का लाभ मिल रहा है। साहिबाबाद के कृष्णा इंजीनियरिंग कॉलेज और नेहरूनगर के दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियल में प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उक्त बातें कहीं।

पहले कोरोना की जगह लगता था कर्फ्यू
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा व बसपा की सरकार के समय में कोरोना नहीं था, लेकिन कर्फ्यू जरूर लग जाता था। हमारे समय में कोरोना है, लेकिन कर्फ्यू नहीं लगता है। जनजीवन सामान्य है। दुनिया में कोरोना की तीसरी लहर चल रही है। अमेरिका, यूरोप और चीन में लॉकडाउन है, लेकिन प्रदेश में रात्रि कर्फ्यू के अलावा किसी चीज को नहीं रोका गया है। जीवन और जीविका को बचाने का काम कोरोना के समय में सरकार ने किया। 160 करोड़ लोगों को देश में कोरोना की डोज दी जा चुकी है। प्रदेश में 25 करोड़ लोगों को वैक्सीन दे देंगे। निशुल्क टेस्ट, उपचार, राशन के बाद सभी को निशुल्क वैक्सीन, यह है भाजपा का सबका साथ और सबका विकास का नारा।

नियमों की अनदेखी कर बना हज हाउस, हमनें बनाया कैलाश मानसरोवर भवन
सपा-बसपा के विकास की सोच खुद के परिवार के विकास की थी, हमारी राष्ट्रवादी सोच सबका साथ, सबका विकास, सबको सुरक्षा, सबका सम्मान और आस्था को भी भरपूर सम्मान देने की है। आस्था के सम्मान के चलते अयोध्या में श्रीराम का भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है। काशी में काशी विश्वनाथ धाम का निर्माण कार्य पूरा हो गया है। पहले नियमों की अनदेखी करते हुए हज हाउस बनता था। अब हज हाउस नहीं, कैलाश मानसरोवर का भवन बन रहा है।

ये भी पढ़े : ग्रामीण स्तर पर खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां लगाने के किए जाएंगे सकारात्मक प्रयास: केशव प्रसाद मौर्य


नौकरी निकलने पर चाचा-भतीजे वसूली पर निकल पड़ते थे
पहले की सरकारों का विकास का विजन नहीं था। उनका अपना परिवार विकास करे, यह उनके लिए महत्वपूर्ण था। युवाओं के लिए नौकरी निकलने पर, चाचा भतीजा वसूली पर निकल पड़ते थे। हमनें पांच लाख नौजवानों को सरकारी नौकरी दी। 1.61 करोड़ नौजवानों को रोजगार मिला। पहले दंगों व कर्फ्यू से जनजीवन अस्त व्यस्त होता था, आज सदी की सबसे बड़ी महामारी भी बालबांका नहीं कर पा रही है। जीवन अनवरत चल रहा है।

प्रदेश को बनाएंगे देश की नंबर एक अर्थव्यवस्था
गाजियाबाद में मेट्रो, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के बाद रैपिड रेल कॉरिडोर के साथ बराबर जेवर में एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बना रहा है। फिल्मसिटी गाजियाबाद के बगल में आने के साथ मेडिकल डिवाइस पार्क का निर्माण होने जा रहा है। डिफेंस कॉरिडोर, खेल विश्वविद्यालय का काम जारी होने के साथ हिंडन एयरपोर्ट शुरू हो चुका है। एएमयू के लिए जमीन देने वाले राजा महेंद्रप्रताप सिंह के नाम अब अलीगढ़ में नया विश्वविद्यालय के निर्माण की कार्रवाई शुरू की है। अब प्रदेश को नंबर दो की जगह नंबर एक की अर्थव्यवस्था बनाने पर काम जारी है।

सुरक्षा के साथ सभी की आस्था को मिला सम्मान
मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा ने राष्ट्रवाद और सुरक्षा के मॉडल पर काम किया है। प्रदेश में पांच साल पहले भय का माहौल था। बेटियां घर से बाहर निकलने से डरती थीं। माफिया जमीनों पर कब्जा करते थे। सपा सरकार में कांवड़ यात्रा रोकने के साथ कृष्णजन्माष्टमी के आयोजन को प्रतिबंधित कर दिया था। लेकिन भाजपा सरकार ने कांवड़ यात्रा को सुरक्षा देने के साथ फूल बरसाए। आज माफिया व अपराधियों की हिम्मत नहीं है कि वह लोगों की जमीन पर कब्जा करे। अगर कोई कब्जा करेगा तो अब बुलडोजर चलेगा। हिस्ट्रीशीटर के पार्टनर बनते थे। सीएम ने राजीव कॉलोनी सेडोर-टू-डोर संपर्क अभियान की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि दंगों की राजनीति करने वाले लोगों ने उसी तरह के लोगों को टिकट दिया है। सपा ने कैराना से पलायन करवाने वालों को टिकट दिया। जबकि भाजपा ने सभी तबकों का प्रतिनिधित्व करने वाले राष्ट्रवादियों को टिकट दिया है।
सत्ता का दुरुपयोग करना परिवारवादी लोगों का काम
वंशवादी, परिवारवादी और विकृत जातिवादी मानसिकता से जुड़े लोग, जब उन्हें सत्ता प्राप्त होती है तो वह क्या करते हैं, और जब राष्ट्रवादी सोच के लोगों के हाथ में सत्ता होती है तो वह क्या करते हैं, यह फर्क देखना है तो केवल एक उदाहरण दूंगा। 2017 में प्रदेश में सरकार बनने के बाद पहला निर्णय अवैध बूचड़खानों को बंद करने, बेटियों की सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो स्क्वायड का गठन और 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ की कर्ज माफी का निर्णय लिया। गौमाता, अन्नदाता और बेटियों की सुरक्षा संबंधी तीन निर्णय लिए। समाजवादी पार्टी को जब 2012 में सत्ता मिली, तब पहला निर्णय रामजन्मभूमि पर आतंकी हमला करने वाले आतंकियों के मुकदमों को वापस लेने का लिया गया।

प्रधानमंत्री के नेतृत्व में मिला राष्ट्र नायकों को सम्मान
मुख्यमंत्री ने कहा कि युद्ध में या शांति काल में देश की सीमा की रक्षा करते हुए बलिदान देने वालों शहीदों के प्रति हर भारतीय को उनके शौर्य और बलिदान के प्रति सम्मान का भाव व्यक्त करना चाहिए। गाजियाबाद वाले वैसे ही सौभाग्यशाली हैं कि यहां पर भारतीय सेना के जनरल स्वयं लोकसभा में आपका प्रतिनिधित्व करते हुए क्षेत्र का विकास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति के पास इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की भव्य प्रतिमा की स्थापना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संकल्प से हुई है। राष्ट्र नायकों के प्रति सम्मान का यह भाव, यही भारतीय जनता पार्टी की सोच है। भाजपा ने जो कहा वह करके दिखाया है।

खूब लगे जय श्रीराम और योगी-मोदी के नारे
निगम ऑडिटोरियम में हुए कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के भाषण के दौरान जमकर जयश्रीराम और योगी-मोदी के नारे लगे। मुख्यमंत्री के आने से पहले राष्ट्रभक्ति से जुड़े गीतों के साथ भाजपा प्रत्याशी अतुल गर्ग के समर्थन में खूब नारेबाजी हुई। कार्यक्रम में मंच पर केंद्रीय राज्यमंत्री वीके सिंह, राज्यसभा सदस्य डॉ. अनिल अग्रवाल, एमएलसी दिनेश गोयल, महंत नारायण गिरी, आध्यात्मिक गुरु पवन सिन्हा, राज्यमंत्री अतुल गर्ग, महापौर आशा शर्मा, क्षेत्रीय उपाध्यक्ष मयंक गोयल, शहर विधानसभा प्रभारी हरीश चंद्र भाटी, संयोजक अशु वर्मा व महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा मौजूद रहे।

If You Like This Story, Support NYOOOZ

NYOOOZ SUPPORTER

NYOOOZ FRIEND

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

Read more Ghaziabad की अन्य ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें और अन्य राज्यों या अपने शहरों की सभी ख़बरें हिन्दी में पढ़ने के लिए NYOOOZ Hindi को सब्सक्राइब करें।

Related Articles