BJP प्रत्याशी संघमित्रा मौर्य का वीडियो वायरल, बोलीं- मौका मिले तो डालो फर्जी वोट

संक्षेप:

  • बीजेपी उम्मीदवार संघमित्रा मौर्य वीडियो में कथित रूप से फर्जी मतदान करने के लिए कह रही हैं
  • वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है
  • मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी हैं संघमित्रा

बदायूं: बदायूं से लोकसभा चुनाव 2019 के लिए बीजेपी उम्मीदवार संघमित्रा मौर्य का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वह अपने समर्थकों को कथित रूप से फर्जी मतदान करने के लिए कह रही हैं. वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. इसमें संघमित्रा मौर्य एक जनसभा में अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करती दिख रही हैं और उनसे कह रही हैं कि जो व्यक्ति मौजूद नहीं है, उसका मतदान चोरी-छुपे कर सकते हैं. हंसी-ठहाकों के बीच संघमित्रा कह रही हैं, `एक भी वोट बचने ना पाए चाहे फर्जी वोट डालना पड़े, वोट जरूर डालना. जो लोग बाहर हैं, यहां पर मौजूद नहीं हैं, उनका वोट बेकार नहीं जाना चाहिए. इतना सब कुछ चलता है चुनावों में.` हालांकि Nyoooz इस वीडियो की प्रमाणिकता की पुष्‍टि‍ नहीं करता है. मामले पर जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि फिलहाल उन्हें इस वीडियो की कोई जानकारी नहीं है. हालांकि उन्होंने इस मसले को देखने का भरोसा दिलाया.

मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी हैं संघमित्रा

ये भी पढ़े : बिहार: RSS पदाधिकारियों का ब्यौरा जुटाने वाली चिट्ठी पर एडीजी की सफाई, कहा- सरकार के पास इसकी जानकारी नहीं


बता दें कि संघमित्रा उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी हैं और भाई अशोक मौर्य भी बीजेपी में ही हैं. संघमित्रा मौर्य के पति नवल किशोर शाक्य ने पिछले साल बीजेपी से नाता तोड़कर सपा का दामन थाम लिया था. नवल किशोर मौजूदा समय में सपा में हैं. संघमित्रा पहले भी विवादित बयान देकर सुर्खियों में आ चुकी हैं. एक बार संघमित्रा ने कहा था कि कोई गुंडागर्दी की कोशिश हुई तो वह स्वयं सबसे बड़ी गुंडी बन जाएंगी. मौर्य का मुकाबला गठबंधन उम्मीदवार और मुलायम परिवार के सदस्य धर्मेंद्र यादव से है.

वहीं, संघमित्रा मौर्य ने 2 अप्रैल को बदायूं लोकसभा सीट से नामांकन दाखिल किया था. उन्होंने अपने हलफनामे में अपने विवाहित होने की बात को छिपाया है. जबकि, उनकी शादी डॉ. नवल किशोर शाक्य से हुई है. लेकिन मौजूदा समय में उनके अपने पति नवल किशोर शाक्य के साथ रिश्ते ठीक नहीं चल रहे हैं.

Your support to NYOOOZ will help us to continue create and publish news for and from smaller cities, which also need equal voice as much as citizens living in bigger cities have through mainstream media organizations.

अन्य बरेली ताजा समाचार पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें | देशभर की सारी ताज़ा खबरें हिंदी में
पढ़ने के लिए NYOOOZ HINDI को सब्सक्राइब करें|

Related Articles