World Sleep Day 2021: जानिए नींद से जुड़ी ये ख़ास बातें, ऐसे आएगी अच्छी नींद

  • ‘वर्ल्ड स्लीप डे’ का महत्व
  • बहुत जरूरी है कि अच्छी नींद
  • नींद पूरी न होने से होती हैं बीमारियां

सोना किसको पसंद नहीं होगा. हर कोई चाहता है कि वे अच्छी नींद ले सके जिससे उसे ताज़गी का एहसास हो. लेकिन बदलते समय के साथ लोगों की दिनचर्या भी बदल रही है ऐसे में 8 घंटों की पूर्ण नींद शायद ही किसी को मिलती हो. इसलिए आज वर्ल्ड स्लीप डे पर हम आपको बताएंगे कि आप एक अच्छी नींद कैसे ले सकते हैं.
 
पहले हमें जानना होगा कि आखिर यह दिन मनाते क्यूं हैं. ‘नियमित नींद, स्वस्थ भविष्य’ अर्थात वर्तमान की आवश्यकता है कि हम सभी नियमित रूप से बराबर नींद लें ताकि एक स्वस्थ भविष्य कि कल्पना कर सकें।

यदि हमारी नींद पूरी नहीं होगी तो हमारी कार्यक्षमता और स्वास्थ्य दिन-ब-दिन प्रभावित होगा इसलिए सभी लोग नींद के प्रति लापरवाही न बरतते हुए इसको पूरा आठ घंटे का समय दें इसलिए आज के दिन आपको इस बात का ध्यान दिलाते हैं कि आपकी पूर्ण नींद कितनी ज़रूरी है.
 
नींद न आना
लोगों को लगता है नींद न आना एक सामान्य समस्या है लेकिन दिन-ब-दिन यह एक गंभीर समस्या बनती जा रही है। कई सारे लोग इस समस्या से परेशान हैं। पहले ये समस्या बुजुर्गों में ही देखी जाती थी लेकिन आजकल युवा भी इससे परेशान है। बदलती दिनचर्या और मोबाइल अनिद्रा की समस्या के लिए सबसे अधिक जिम्मेदार हैं।


 
अच्छी नींद के उपाय
आप चाहते हैं कि रात की नींद आपकी बहुत अच्छी और पक्की हो तो मोबाइल फोन को एक घंटा पहले बंद कर दें। बहुत अधिक मसालेदार खाने का सेवन रात में न करें। सोने से पहले किसी से बहस या नकारात्मक बात न करें। सोने का बिस्तर और तकिया आरामदायक हो, यह सुनिश्चित करें। सोते वक्त आंखें बंद कर किसी अच्छी याद या दृश्य की कल्पना करें।
 
नींद से जुड़ी दिल्चस्प बातें
 
15 प्रतिशत लोगों को नींद में चलने और 5 प्रतिशत लोगों को नींद में बोलने की बीमारी होती है।
 
-जब हम बहुत अधिक खुश होते हैं तो हमारी नींद उड़ जाती है। ऐसे समय में कम नींद भी पर्याप्त होती है।
 
-1964 में 17 साल के रैंडी गार्डनर ने 264 घंटे 12 मिनट तक जगे रहने का कीर्तिमान बनाया था जो 54 साल बीतने के बावजूद नहीं टूटा है।
 

Related Articles

Leave a Comment