UPSC IAS Preparation Tips: ये तरीके अपनाएं, IAS बनने का सपना जल्द होगा पूरा

आईएएस परीक्षा की तैयारी करने जा रहे हैं तो कामयाबी के ल‍िये इन बातों को जरूर याद रखें,जल्द मिलेगी सफलता.

IAS अध‍िकारी बनना हर किसी का ख्वाब होता है, लेकिन IAS बनने का रास्ता बहुत ही संघर्ष से भरा होता है. ये संघर्ष बहुत कम हो जाता है अगर हमें कोई  गाइड करने वाला मिल जाए. तो आज हम आपको कुछ ऐसे खास Tips बताने जा रहे है जो आपकी राह की मुश्किलें कम कर देंगी और आपको IAS अध‍िकारी बनने में मदद करेंगी.

1. सिविल सर्विसेज की तैयारी करने से पहले इस एग्जाम की फिलोसफी को समझना बहुत जरूरी है. आपको क्या-क्या करना है, यह समझना होगा.
2. परीक्षा प्रणाली को समझें.
3. स‍िलेबस और परीक्षा की संरचना समझें:

मुख्‍‍‍य परीक्षा में नीचे दिए गए 9 प्रश्न पत्र शामिल हैं.

पेपर 1: निबंध (कुल 250 अंक)
पेपर 2: इंग्लिश - English पेपर (कुल 250 अंक)
पेपर 3: भारतीय भाषा - Indian Language (कुल 250 अंक)
पेपर 4: जनरल स्टडीज - GS पेपर 1 (कुल 250 अंक)
पेपर 5: सामान्य अध्ययन - GS पेपर 2 (कुल 250 अंक)
पेपर 6: जनरल स्टडीज - GS पेपर 3 (कुल 250 अंक)
पेपर 7: जनरल स्टडीज - GS पेपर 4 (कुल 250 अंक)
पेपर 8: वैकल्पिक - पेपर 1 (कुल 250 अंक)
पेपर 9: वैकल्पिक - पेपर 2 (कुल 250 अंक)

आयु सीमा
21 वर्ष से 32 वर्ष के उम्‍मीदवार यूपीएससी आईएएस परीक्षा के ल‍िये आवेदन कर सकते हैं. अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए यह आयु सीमा 21 वर्ष से 35 तक है.

UPSC, साल में एक बार यह परीक्षा आयोज‍ित करता है. यह परीक्षा तीन फेज में आयोज‍ि‍त होती है. प्रील‍िम्‍स यानी प्रारंभ‍िक परीक्षा, मेन यानी मुख्‍य परीक्षा और इंटरव्‍यू. प्रारंभ‍िक परीक्षा में दो पेपर होते हैं. पेपर 1 और पेपर 2. सभी मल्‍ट‍िपल च्‍वाइस टाइप (multiple choice type) के सवाल होते हैं.

पेपर-1 में जनरल स्‍टडीज(ह्यूमैनिटीज, जैसे क‍ि इत‍िहास, भूगोल, अर्थशास्‍त्र, राजनीति‍ शास्‍त्र और जनरल साइंस. इसके साथ ही करेंट अफेयर्स से सवाल भी होते हैं.

पेपर-2 में क्‍वांट‍िटेट‍िव एप्‍ट‍िट्यूड(quantitative aptitude), इंग्‍ल‍िश आद‍ि से सवाल होते हैं. यह पेपर क्‍वाल‍िफाइंग नेचर का होता है. इसमें पास होने के ल‍िये 33% अंक लाना होता है.

प्रारंभ‍िक परीक्षा को पास करने के बाद मुख्‍य परीक्षा में भाग लेने का मौका म‍िलता है. मुख्‍य परीक्षा में 4 जीएस के पेपर, एक ऑप्‍शनल पेपर होता है,ज‍िसमें दो पेपर होते हैं और एक एस्‍से पेपर होता है. इसके अलावा एक इंग्‍ल‍िश और एक क्षेत्रीय भाषा का पेपर भी होता है. ये पेपर भी क्‍वाल‍िफाइंग पेपर होते हैं. मेर‍िट ल‍िस्‍ट तैयार करने के ल‍िये इनके अंकों का इस्‍तेमाल नहीं क‍िया जाता.
 
मुख्‍य परीक्षा क्‍वाल‍िफाई करने के बाद उम्‍मीदवारों को इंटरव्‍यू में शाम‍िल होने का मौका म‍िलेगा.
 
 
 

Related Articles

Leave a Comment