2020 में सीबीएसई 12वीं की परीक्षा देने वाले लाखों छात्रों के लिए बड़ी खबर, हुआ ये अहम बदलाव

  • (Central Board of Secondary Education) ने 2019 -2020 से 12वीं की गणित और अंग्रेजी के क्वेश्चन पेपर में बदलाव करने का फैसला किया है।
  • अब प्रश्नपत्र में एक अंक के 20 सवाल, 2 अंक के 6 सवाल, 4 अंक के 6 सवाल और 6 अंक के 4 सवाल आएंगे।
  • भाग-सी (पाठ्यपुस्तक) के अंकों को 40 से घटाकर 30 कर दिया गया है।

(Central Board of Secondary Education) ने 2019 -2020 से 12वीं की गणित और अंग्रेजी के क्वेश्चन पेपर में बदलाव करने का फैसला किया है। दोनों विषयों में अगले साल से 20 अंकों का आतंरिक मूल्यांकन (इंटरनल असेसमेंट) होगा। दोनों के प्रश्नपत्रों में एक-अंक के प्रश्नों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। एक अंक के 20 सवाल पूछे जाएंगे। दोनों विषयों के प्रश्न पत्र 100 की जगह 80 अंक के होंगे। बोर्ड ने सभी संबद्ध स्कूलों को इस संबंध में सूचना दे दी है।

बोर्ड ने मार्च 2020 से होने वाली परीक्षा के लिए प्रश्नपत्र के प्रारूप को पूरी तरह से बदल दिया है। अब प्रश्नपत्र में एक अंक के 20 सवाल, 2 अंक के 6 सवाल, 4 अंक के 6 सवाल और 6 अंक के 4 सवाल आएंगे। पेपर 80 अंकों का होगा, जिसमें कुल 36 सवाल आएंगे और तीन घंटे का समय मिलेगा। इस बदलाव के तहत एक अंक के सवालों की संख्या 4 से बढ़कर 20 हो गई है।

अंग्रेजी कोर में पहली बार बहुविकल्पीय प्रश्न (एमसीक्यू) आएंगे 12वीं के अंग्रेजी कोर विषय के प्रश्नपत्र में अभी तक भाग-ए (री¨डग कम्प्रीहेंशन) 30 अंक का आता था। अब भाग-ए को 20 अंक का कर दिया गया है, जिसमें दो पाठ्यअंश आएंगे। भाग-बी, एडवांस्ड राइ¨टग स्किल्स में कोई परिवर्तन नहीं किया गया। इस भाग में पहले की तरह ही 30 अंकों के चार प्रश्न पूछे जाएंगे।

भाग-सी (पाठ्यपुस्तक) के अंकों को 40 से घटाकर 30 कर दिया गया है। इस भाग में छह अंकों के प्रश्नों की संख्या 4 से घटाकर 2 कर दी गई। पहले अंग्रेजी कोर के 100 अंक के प्रश्न पत्र में छात्रों को 35 प्रश्नों के उत्तर देने होते थे। वहीं अब 80 अंकों के प्रश्नपत्र में 33 प्रश्नों के जवाब देने होंगे, जिनमें से 20 प्रश्न एक-एक अंक के होंगे। पहली बार बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे।

Related Articles

Leave a Comment